राजधानी में ग्रीन बेल्ट और सरकारी जमीन पर अतिक्रमण होता है तो इसके लिए तहसीलदार जिम्मेदार होंगे। उन्हें इसकी रिपोर्ट संबंधित क्षेत्र एसडीएम को देना होगी। जिला प्रशासन के मैदानी अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि अपने-अपने क्षेत्रों की रिपोर्ट बनाएं। तहसीलदारों को कलेक्टर अविनाश लवानिया ने स्पष्ट किया है कि सरकारी जमीन व ग्रीन बेल्ट पर कोई भी निर्माण कर रहा है या प्लाॅट काट रहा है तो उसे रोकें। तहसीलदार के राजस्व क्षेत्र में अतिक्रमण होता है तो उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

सरकारी स्कूलों पर नजर रखें – फील्ड अधिकारियों को सरकारी स्कूलों का भी दौरा करना होगा। स्कूलों की जमीन पर आसपास के लोग अतिक्रमण कर लेते हैं। सड़क किनारे की सरकारी जमीन पर होने वाले अतिक्रमण को भी हटाया जाएं।

हाल में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बनाए गए ढाबे आदि तोड़े गए हैं। सभी तहसीलदारों को अपने-अपने क्षेत्रों पर नजर रखना होगी। कहीं अतिक्रमण हो रहा है तो उसे तुरंत हटवाना होगा। एसडीएम को भी रिपोर्ट करना होगी। लापरवाही करने पर कार्रवाई की जाएगी।

  • अविनाश लवानिया, कलेक्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *