राहुल गांधी ने अपने खत में कहा, “डियर चिराग, मैं आपके पिता रामविलास पासवान के अचानक निधन से बहुत दुखी हूं.”
नई दिल्ली: केंद्र सरकार में मंत्री और बिहार के दिग्गज नेता रामविलास पासवान (Ramvilas Paswan) का गुरुवार को निधन हो गया. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर दुख जताते हुए और उनके “सार्वजनिक जीवन” को याद करते हुए उनके पुत्र और लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने कहा कि पासवान ने देश की राजनीति पर गहरी छाप छोड़ी है.
कुछ दिन पहले ही रामविलास पासवान की हार्ट सर्जरी हुई थी. इसके बाद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चिराग पासवान को फोन करके उनका हालचाल जाना था. पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष थे. नवंबर 2019 में उनके बेटे चिराग पासवान ने पार्टी की कमान अपने हाथ में ले ली.

राहुल गांधी ने अपने खत में कहा, “डियर चिराग, मैं आपके पिता रामविलास पासवान के अचानक निधन से बहुत दुखी हूं. हमने एक ऐसे दिग्गज नेता को खो दिया, जिनका बिहार और देश की राजनीति और जनसेवा पर गहरा प्रभाव था.”

गांधी ने कहा कि अपने सार्वजनिक जीवन में उन्होंने समाज के सबसे पिछड़े तबके यानी हाशिये पर पड़े लोगों की आवाज को उठाया और गरीबों एवं कमजोरों के अधिकारों की रक्षा की. उन्होंने लिखा, “सामाजिक न्याय और समानता के प्रति उनकी अटूट प्रतिबद्धता आज के समय में विशेष रूप से प्रासंगिक है.”

राहुल गांधी ने PM मोदी की ली ‘चुटकी’ तो भड़के केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, दिया ये जवाब

बता दें कि इससे पहले, रामविलास पासवान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की यूपीए सरकार के दौरान 2004 से 2009 तक रसायन एवं उर्वरक मंत्री थे. 2014 के आम चुनाव में बिहार के हाजीपर संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व किया था. जुलाई 2019 में राज्यसभा के जरिए वह संसद पहुंचे थे. पूर्व मंत्री पासवान 11 सितंबर से अस्पताल में थे और चार अक्टूबर को उनकी हार्ट सर्जरी हुई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *