बाहुबली मुख्तार अंसारी के गिरोह को कमजोर करने के लिये लखनऊ कमिश्नरेट पुलिस एक और बड़ी कार्रवाई करने जा रही है। अब मुख्तार के बेहद करीबी व रिटायर पुलिसकर्मी के बेटे अभिषेक सिंह उर्फ बाबू समेत पांच लोगों की करोड़ों की सम्पत्ति गैंगस्टर एक्ट के तहत कुर्क की जायेगी। अब तक पुलिस अपराध और अवैध तरीके से कमायी गई इन बदमाशों की करीब 65 करोड़ रुपये की सम्पत्ति का ब्योरा तैयार कर चुका है। इन पांचों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जा चुकी है। कमिश्नरेट पुलिस ने कुछ दिन पहले ही मुख्तार व उसके भाई की अवैध सम्पत्ति और हिस्ट्रीशीटर राम सिंह की 150 करोड़ रुपये की सम्पत्ति कुर्क की थी।

ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्र के प्रयागराज में अल्लापुर स्थित तीन मंजिला मकान को गुरुवार की शाम ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू की गई। विकास प्राधिकारण के अधिकारी पुलिस और पीएसी के साथ मकान पर जेसीबी लेकर पहुँचे। पीडीए के जोनल अधिकारी सत शुक्ला ने बताया की गैंगस्टर कोर्ट ने 12 साल पहले मकान को सील कर दिया था। बिना नक्शा पास कराए मकान बनवाया गया था। इसी साल जून ने पीडीए ने मकान के खिलाफ ध्वस्तीकरण का आदेश पारित किया था। इसी मामले में हाई कोर्ट ने याचिका खारिज की थी। आयुक्त न्यायालय नर भी अपील खारिज कर दी थी। वही मौके पर पहुँची विधायक विजय मिश्र की पत्नी एमएलसी रामलली मिश्र का कहना था कि पीडीए ने घर से सामान निकलने का भी मौका नहीं दिया। हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ मकान गिराया जा रहा है।

माफिया के खिलाफ चल रहे अभियान के तहत लखनऊ में दो महीने में 28 बदमाशों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जा चुकी है। 22 सितम्बर को मुख्तार के गुगों की धरपकड़ के लिये एक साथ 48 टीमों ने 42 स्थानों पर दबिश दी थी। इसमें 11 लोग गिरफ्तार किये गये थे। इनमें ही अभिषेक सिंह शामिल था। अभिषेक का ट्रांसगोमती क्षेत्र में काफी दबदबा था। लिहाजा उस पर सख्ती करते हुए मड़ियांव पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट कुछ दिन पहले लगा दिया था। इसके बाद ही अभिषेक की सम्पत्ति का ब्योरा खंगालना शुरू कर दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *