मुंबई सेंट्रल क्षेत्र स्थित सिटी सेंटर मॉल में लगी आग को बुझाने के लिए अभियान 24 घंटे भी जारी रहा। यह जानकारी बीएमसी अधिकारियों ने शुक्रवार देर रात दी। अधिकारियों ने बताया कि किसी के जख्मी होने की कोई ताजा जानकारी नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि मॉल के पास स्थित एक अन्य बहुमंजिला इमारत से 3,500 से अधिक लोगों को एहतियात के तौर पर बाहर निकाला गया है।
उन्होंने पहले बताया था कि आग बुझाने के अभियान में एक उप दमकल अधिकारी सहित पांच दमकल कर्मी जख्मी हो गए। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बताया कि पांचों कर्मियों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अधिकारी ने बताया कि आग एक भूमिगत तल और तीन मंजिला सिटी सेंटर मॉल में गुरुवार रात आठ बजकर 53 मिनट पर लगी थी।
अधिकारी ने बताया कि 88 पानी के टैंकरों को आग बुझाने में लगाया गया है। करीब 300 लोगों को भूमिगत तल से बाहर निकाला गया। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने इससे पहले एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि मुंबई दमकल ने एक ‘ब्रिगेड कॉल’ दिया था जिसके तहत शहर की सभी एजेंसियों से दमकल की गाड़ियां बुलाई जाती हैं। आग मॉल की दूसरी मंजिल पर स्थित एक मोबाइल की दुकान में लगी थी। इस मंजिल पर ज्यादातर दुकानें मोबाइल और उससे जुड़ी सामग्रियों की ही हैं।
बीएमसी ने बताया कि मॉल के पड़ोस में स्थित 55 मंजिला ओर्चिड एन्क्लेव के 3,500 लोगों को एहतियात के तौर पर बाहर निकाला गया है। इस आग को शुरुआत में ‘स्तर-एक’ यानी ‘मामूली श्रेणी’ में रखा गया था, लेकिन इसे रात 10 बजकर 45 मिनट पर ‘स्तर-तीन’ तक बढ़ा दिया गया तथा बाद में यह और भयानक होकर देर रात दो बजकर 30 मिनट पर ‘स्तर-चार’ तक पहुंच गई।
मुंबई महापौर किशोरी पेडनेकर ने घटनास्थल का दौरा करके आग बुझाने के अभियान की समीक्षा की। अग्निशमन अधिकारियों ने बताया कि अब तक आग लगने की वजह का पता नहीं चल पाया है। इससे पहले, बृहस्पतिवार को मुंबई के कुर्ला में एक कपड़ा फैक्टरी में आग लग गई थी। इस पर दो घंटे में काबू पा लिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *