भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्यप्रदेश 10वीं (हाई स्कूल)-12वीं (हायर सेकेंडरी स्कूल) की बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। किन स्कूलों को परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। परीक्षा केंद्रों में क्या रहेगा इसका पूरा खाका मंडल ने तैयार कर लिया है, जिसके दिशा-निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए गए हैं।
भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्यप्रदेश 10वीं (हाई स्कूल)-12वीं (हायर सेकेंडरी स्कूल) की बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। किन स्कूलों को परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। परीक्षा केंद्रों में क्या रहेगा इसका पूरा खाका मंडल ने तैयार कर लिया है, जिसके दिशा-निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए गए हैं।

  • परीक्षा केन्द्रों में सम्मिलित शालाओं की दूरी शहरी क्षेत्र में 5 कि.मी. एवं ग्रामीण क्षेत्र में 10 कि.मी. से अधिक नहीं हो ।
  • परीक्षा केन्द्र का चयन शासकीय अथवा अशासकीय विद्यालय के बजाय संस्था में उपलब्ध अधोसंरचना , संसाधन एवं सुविधाओं के आधार पर किया जाए ।
  • परीक्षा केन्द्र के लिए ऐसे विद्यालय का चयन किया जाए जिसमें परीक्षार्थियों की बैठक व्यवस्था, बिठाने के लिये फर्नीचर, पेयजल, प्रसाधन व सुरक्षा की अच्छी व्यवस्था हो।
    इधर हालत यह है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश से संबंधित स्कूलों में अभी आधा कोर्स भी नहीं हुआ है। कोविड-19 के कारण स्कूल ओपन नहीं हुए हैं। ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर औपचारिकता की गई है परंतु पढ़ाई नहीं हो पाई है। मध्य प्रदेश सेकेंडरी बोर्ड ऑफ एजुकेशन द्वारा कहा गया था कि कोर्स में 30% की कटौती की जाएगी, परंतु अब तक यह नहीं बताया गया है कि सिलेबस में से क्या-क्या पाठ हटाया जा रहा है ताकि स्टूडेंट्स अपनी तैयारी कर सकें। यदि स्टूडेंट्स ने पूरा कोर्स पढ़ लिया तो फिर 30% कटौती का फायदा क्या होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *