मध्य प्रदेश में जारी उपचुनाव की जंग में बयानों की मर्यादा लगातार टूट रही है। विधानसभा उपचुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे मध्य प्रदेश की राजनीति में बयानबाजी मर्यादाएं तोड़ रही हैं। कमलनाथ के बयान को आपत्तिजनक बताने वाली इमरती देवी ने अब उन्हें लेकर बेहद विवादित बयान दिया है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह कमलनाथ को लुच्चा, लफंगा और शराबी कह रही हैं।

पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा अशोभनीय शब्द कहने के बाद इमरती देवी के साथ-साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया और कई भाजपा नेता कमलनाथ पर भड़ास निकाल चुके हैं। इसके बाद अब डबरा विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी ने एक सभा को संबोधित करते हुए राजनीतिक मर्यादा की हदें पार कर दी और कहा कि कमलनाथ शराबी कबाड़ी की तरह बन गए हैं। जैसे शराबी के सामने से कोई महिला निकलती है तो शराबी-कबाड़ी महिला पर अभद्र टिप्पणी करता है। ऐसे ही लुच्चा, लफंगा अब कमलनाथ भी बन गए हैं।

इमरती देवी शुक्रवार को डबरा में आयोजित भाजपा के युवा सम्मेलन में जनता को संबोधित कर रही थीं।उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि- ‘मेरे ससुर के सामने, सास ननंद, देवरानी जेठानी, बेटों के सामने कमल नाथ ने ऐसी भाषा बोली है, मैं आपके परिवार की महिला हूं और अगर 3 तारीख को आपने मेरी लाज नहीं रखी तो आप जानो और आपका काम जाने।’


भाजपा नेता इमरती देवी कहती हैं, “नवरात्रि चल रही है और कमलनाथ ने भगवती के समक्ष ऐसी भाषा आइटम का इस्तेमाल किया है। इसलिए आप देखेंगे कि मप्र में कांग्रेस पार्टी कभी सत्ता में नहीं आएगी। सभी 28 सीटें हम जीतेंगे और यहां हमेशा भाजपा सरकार रहेगी।”

एक और वीडियो वायरल हो रहा, जिसमें बोलीं- पार्टी जाए भाड़ में
इमरती देवी का एक और वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान ‘पार्टी जाये भाड़ में’ बयान दे रही हैं। इस बयान पर विपक्ष ने उन्हें निशाने पर लिया है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि कांग्रेस के साथ गद्दारी करने वालों के भाजपा को लेकर बोल? ये तो प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के लोग हैं। इन्हें किसी भी पार्टी से कोई लेना देना नहीं, ये तो सिर्फ़ अपने सीईओ के साथ हैं।
अपने बयानों के कारण विवादों में रहने वाली मंत्री इमरती देवी का शुक्रवार की शाम किसानों ने घेराव कर दिया। इस दौरान इमरती ने कहा, ‘भाड़ में जाए पार्टी…’ हालांकि कुछ देर बाद उन्होंने इस पर सफाई देते हुए कहा कि वे भारतीय जनता पार्टी की पूजा करती हैं।

इमरती ने कहा कि घेराव के दौरान कुछ लोगों ने धरने पर बैठने की बात कहकर कांग्रेस के नारे लगा दिए इसलिए उन्होंने उस पार्टी के लिए भाड़ में जाए कहा था। दरअसल शुक्रवार की शाम इमरती देवी मसूदपुर की सभा से लौटकर आ रहीं थीं। इसी बीच मंडी गेट के सामने किसानों ने उनका वाहन रोककर घेराव कर दिया।

इमरती ने किसानों से कहा कि वे किसान की मोड़ी (लड़की) हैं और किसानों के साथ हैं। उसी दौरान किसानों ने उनसे कहा कि वे उनके साथ धरने पर बैठ जाएं और उनकी लड़ाई लड़े। इसी दौरान किसी किसान ने पार्टी की बात की तो उन्होंने कहा कि पार्टी जाए भाड़ में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *