बेंगलुरू, 22 अक्टूबर सीनियर डिफेंडर कोथाजीत सिंह का मानना है कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने कोविड-19 के कारण ब्रेक के लिए बाध्य होने के बाद सही समय पर ट्रेनिंग शुरू की है और अगले साल होने वाले तोक्यो ओलंपिक के लिए मजबूत स्थिति में होगी।

पुरुष और महिला हॉकी टीमों के लिए यहां भारतीय खेल प्राधिकरण के केंद्र में अगस्त में राष्ट्रीय शिविर बहाल हुआ था। इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के कारण 45 दिन तक शिविर को निलंबित किया गया था।

दो सौ से अधिक मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले मणिपुर के इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘पिच पर वापसी करना शानदार है। पिछले दो महीने में हमने काफी सुधार देखा है और ओलंपिक के लिए हम अच्छी लय में होंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने सही समय पर मैदान पर वापसी की है और इसलिए पूर्ण फॉर्म हासिल करने तथा और बेहतर टीम बनने के लिए हमारे पास पर्याप्त महीने हैं।’’

ओलंपिक क्वालीफायर से बाहर रहने के बाद इस साल एफआईएच हॉकी प्रो लीग के साथ राष्ट्रीय टीम में वापसी करने वाले कोथाजीत बेंच पर बैठने के दर्द को समझते हैं और आगामी महीनों में टीम में अपनी जगह पक्की करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘टीम से बाहर होना कभी आसान नहीं होता और इसलिए टीम में जगह पक्की करने के लिए मैं जितनी अधिक संभव हो उतनी कड़ी मेहनत करने को तैयार हूं।’’

कोथाजीत ने कहा, ‘‘लॉकडाउन के दौरान मैंने अपने खेल का विस्तृत आकलन किया और मुझे अपने खेल के उन पहलुओं के बारे में पता है जिन पर काम करने की जरूरत है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगले कुछ महीने हम सभी के लिए काफी महत्वपूर्ण होंगे और ओलंपिक स्थगित होने के कारण हमारे पास अपने व्यक्तिगत और टीम खेल को मजबूत करने का मौका है।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *