मसूद पर आरोप है कि उन्होंने इकबाल मैदान में हजारों की भीड़ इकट्ठा की और धार्मिक भावनाएं भड़काने वाला भाषण दिया। तलैया थाने प्रभारी डीपी सिंह ने बताया कि मसूद और उनके समर्थकों के खिलाफ तलैया थाने में दो अलग अलग आपराधिक मामले दर्ज है। इनमें से एक मामले में मसूद थाने से ही जमानत पर रिहा हो चुके हैं। दूसरे मामले में मसूद पर धार्मिक भावनाएं भड़काने की गैर जमानती धारा 153 में मुकदमा दर्ज है। सुनवाई में मसूद के वकील ने कहा कि एक मामले में दो एफआईआर दर्ज नहीं हो सकती हैं।

शनिवार को सांसद-विधायकों की विशेष अदालत में जज प्रवेन्द्र कुमार सिंह की कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हुई। मसूद के वकील अजय गुप्ता ने बहस में कहा कि तलैया पुलिस ने एक धार्मिक प्रदर्शन के मामले में आरिफ मसूद और उनके समर्थकों के खिलाफ एक ही अपराध में दो मामले दर्ज किए हैं। एक अपराध में दो मामला दर्ज नहीं किए जा सकते हैं। पहली बार आरिफ मसूद और समर्थकों पर 29 सिंतबर को तलैया पुलिस ने धारा 188, 269, 279 का अपराध दर्ज किया था, जिसमें आरोपी जमानत पर है।

वहीं, इस अपराध में 4 अक्टूबर को दूसरी एफआईआर दर्ज करते हुए आरिफ मसूद व उनके 7 समर्थकों पर धारा 153-ए के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई। वकील अजय गुप्ता ने कहा कि वर्तमान में आरिफ मसूद कांग्रेस के चुनाव प्रचार में बिहार गए हुए हैं और अब तक भोपाल नहीं लौटे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *