भोपाल | 27-अक्तूबर-2020
गांधी मेडीकल कॉलेज में इस वर्ष से एमबीबीएस की बड़ी हुई सीट पर आने वाले नए बैच के लिए सभी व्यवस्थाएं समय-सीमा में पूरी की जाए। यह बात संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने समीक्षा बैठक में कही। श्री कियावत ने कहा कि नये बैच के आने के पहले हॉस्टल, क्लास रूम, मैस में सभी उपयुक्त व्यवस्थाएं पूरी की जाए। बच्चों को कॉलेज में प्रवेश करते ही सारी व्यवस्थाएं उपयुक्त और संपूर्ण लगें कही भी अव्यवस्था या अपूर्णता के कारण बच्चों को परेशानी न उठानी पड़े। बैठक में जीएमसी डीन डॉ. अरूणा कुमार, अधीक्षक हमीदिया डॉ. आई.डी.चौरसिया सहित संयुक्त आयुक्त श्री अनिल द्विवेदी और अन्य डॉक्टर्स उपस्थित थे।
उल्लेखनीय है कि इस वर्ष जीएमसी में एमबीबीएस की सीट 150 से बढ़ाकर 250 कर दी गई है। जिससे सभी व्यवस्थाओं में वृहद रूप में विस्तार किया गया है। जीएमसी में बड़ी हुई सीटस के लिए बड़े-बड़े टीचिंग हॉल, डेमास्टेशन हॉल, लायब्रेरी, मैस, हॉस्टल, एग्जामिनेशन हॉल के साथ ही सभी डिपार्टमेंट का अपग्रेडेशन एवं रिनोवेशन का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। श्री कियावत ने निर्देश दिए है कि बच्चों के कॉलेज में आने के 10-15 दिन पहले ही सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि मैस का खाने की व्यवस्था के साथ-साथ डायनिंग हॉल का फर्नीचर भी उपयुक्त डिजाईन एवं क्वालिटी का हो। साथ ही हॉस्टल एवं मैस में सफाई के लिए उपयुक्त संख्या में कर्मचारी उपलब्ध रहें। सभी विंग्स में इलेक्र्ासिटी, एसी एवं सीवेज की उपयुक्त व्यवस्था हो। क्वालिटी कंट्रोल कमेटी सभी व्यवस्थाओं की बारीकी से जाँच करे। उन्होंने आगामी एक दो दिन में ही सभी व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने की बात भी कही।
संभागायुक्त श्री कियावत ने जीएमसी की पैथालॉजी में होने वाली सभी जाँचों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने निर्देशित किया कि पैथालॉजी में उपलब्ध संसाधनों का अधिकतम उपयोग किया जाए। जो मशीने रिएजेंट या केमीकल की कमी की वजह से बंद पड़ी हैं। उन्होंने केमीकल उपलब्ध कराकर यथाशीघ्र जाँच शुरू की जाए। संभागायुक्त श्री कियावत ने पैथालॉजी की सभी शाखाओं में अधिकतम टेस्ट करने के निर्देश दिए। श्री कियावत ने पैथालॉजी की सभी व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *