राजधानी के करोंद इलाके के ईरानी डेरा में धोखाधड़ी के आरोपियों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर ईरानियों ने पत्थरों और मिर्ची पाउडर से हमला कर दिया। उन्होंने पुलिस पत्थर फेंके और जमकर हंगामा किया। हालात बिगड़े तो पुलिस ने फायरिंग शुरू कर दी। इस हंगामे में 12 पुलिस वाले घायल बताए जा रहे हैं। सागर पुलिस जिन तीन आरोपियों को पकड़ने आई थी, उनमें से एक ही पकड़ा जा सका। दो आरोपी फरार है।

जानकारी के मुताबिक, आरोपी बदमाश दूसरे शहरों में जाकर घटना को अंजाम देते थे। गुरुवार सुबह 6.30 बजे सागर से खुरई पुलिस ने धोखाधड़ी के तीन आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी थी, खुरई पुलिस ने भोपाल के निशातपुरा और छोला पुलिस की मदद ली थी। घटना के बाद मौके पर पुलिसबल तैनात है। आरोपियों की पहचान की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि करोंद में अमन कॉलोनी के ईरानी डेरे के दो कुख्यात बदमाश दिवाली से पहले 9-10 नवंबर को सागर के खुरई गए थे। वहां एक ज्वैलरी की दुकान पर पहुंचे और गन पॉइंट पर जेवर से भरा बैग लेकर भाग आए थे। सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि ये बदमाश भोपाल के ईरानी डेरे के रहने वाले हैं। खुरई पुलिस बदमाशों की तलाश में भोपाल आई।

सागर पुलिस टीम ने अपने साथ में छोला और निशातपुरा पुलिस के साथ गुरुवार तड़के दबिश दी। पुलिस ने दोनों संदेही को हिरासत में ले लिया। बदमाशों को ले जाते ईरानी समुदाय के लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। इसी बीच कुछ लोगों ने आगे बढ़कर पुलिस पर मिर्च पाउडर झोंक दिया। और पथराव होने लगा। हालात बिगड़े तो पुलिस ने हवाई फायरिंग शुरू कर दी। पथराव में 12 पुलिस वालों को चोटें आई हैं।

डीआईजी इरशाद वली ने बताया कि इस मामले में खुरई से पुलिस टीम धोखाधड़ी 420 के आरोपी को पकड़ने के लिए आई थी। आरोपी को गिरफ्त में लेने के लिए पुलिस करोंद पहुंची तो वहां पर ईरानी समुदाय ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया है। पुलिस ने 4-5 राउंड फायरिंग की है, किसी के घायल होने की रिपोर्ट नहीं है। व्यवधान उत्पन्न करने वालों पर केस दर्ज कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *