भोपाल | 09-अक्तूबर-2020
कलेकटर श्री अविनाश लवानिया ने मेट्रो कार्ययोजना की समीक्षा करते हुए सभी मेट्रो स्टेशन की आवश्यकता अनुसार जमीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर स्मार्ट सिटी आफिस में समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शहरी और घने आबादी क्षेत्रों में ऐसी डिजाइन बनाए जिससे कम जगह में बेहतर प्रबन्धन किया जा सके।
कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि जिन जगहों पर स्टेशन के जमीन की आवश्यकता है उन सभी स्थानों का भौतिक परीक्षण के साथ शासकीय भूमि की उपलब्धता और अन्य बातों का भी ध्यान रखकर कार्रवाई त्वरित गति से कराए। बैठक में नगर निगम आयुक्त, एडीएम, एसडीएम और मेट्रो रेल के अधिकारी उपस्थित रहे।
श्री लवानिया ने निर्देश दिए कि दो दिन में आयुक्त नगर निगम के साथ एसडीएम इन जगहों का निरीक्षण कर ले। रोशनपुरा चौराहा पर प्रस्तावित मेट्रो स्टेशन और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के लिए विस्तृत सर्वे रिपोर्ट बनाने के लिए निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसके साथ ही जिंसी चौराहा पर बनने वाले इंटरचेंज स्टेशन के लिए भी भूमि की उपलब्धता के लिए सिटी एसडीएम को कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।
बैठक में पर्पल और रेड मेट्रो लाइन के लिए बनने वाले स्टेशन और उनकी अप्रोच रोड के सम्बन्ध में भी चर्चा की गई। इसके साथ ही विद्युत विभाग के द्वारा लाइन शिफ्टिंग के लिए सभी टेंडर लगाकर और उसके लिए काम भी शुरू कर दिया गया है। लोक निर्माण विभाग और सीपीए ने भी एम्स से भदभदा के बीच निर्माण के लिए सभी अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी कर दिए है।
राजा भोज मेट्रो के लिए कई जगह अंडरग्राउंड मेट्रो लाइन जाएगी इसके लिए भी सर्वे किया का चुका है। उसका काम भी जल्दी शुरू किया जाएगा । उन्होंने सभी स्टेशनों पर पार्किंग और कनेक्टिंग लोकल ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था के लिए भी जगह चिन्हित करने के निर्देश दिए।
राजधानी में मेट्रो रूट और स्टेशन निर्माण की अड़चनों को दूर करने के लिए एसडीएम और नगर निगम कमिश्नर दो दिन के भीतर वेरिफिकेशन करेंगे। मेट्रो रेल कंपनी ने कोरोना संक्रमण से पहले सर्वे करके पूरी रिपोर्ट प्रशासन को सौंप दी थी और एसडीएम ने इसका मुआयना भी कर लिया था, लेकिन अड़चनें दूर नहीं हुईं। अब ज्यादातर अफसर बदल गए हैं। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सभी एसडीएम को निगमायुक्त वीएस चौधरी कोलसानी के साथ भ्रमण कर मौके पर ही निराकरण करने को कहा।

कोलसानी मेट्रो रेल कंपनी के भी एडिशनल एमडी हैं। मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर कलेक्टर लवानिया ने शुक्रवार को बैठक बुलाई थी। इसमें यह बात सामने आई कि एम्स से सुभाष नगर तक 6.22 किमी के रूट के सिविल वर्क में दो बड़ी बाधाएं हैं। पहली एमपी नगर जोन-2 का पेट्रोल पंप और दूसरी सुभाष नगर रेलवे क्रॉसिंग स्थित आजाद नगर झुग्गी बस्ती।

मुआवजे के लिए पॉलिसी
रोशनपुरा पर प्रस्तावित मेट्रो स्टेशन के साथ शॉपिंग कॉम्प्लेक्स निर्माण की डिजाइन बनाने का भी बैठक में निर्णय लिया गया। इसमें पीडब्ल्यूडी, सीपीए और बिजली कंपनी के इंजीनियर भी मौजूद थे। मेट्रो रूट में आ रहे निजी भवन और जमीन के मुआवजे के लिए पॉलिसी बनाई जा रही है। कैबिनेट की मंजूरी के बाद यह लागू होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *